जब डॉक्टर ने खुद खून देकर मरीज की बचाई जान

329 0

आपने डॉक्टरों के खिलाफ मरीज की जान जाने पर प्रदर्शन करते देखा होगा, लेकिन किसी मरीज की जान बचाने के लिए खुद डॉक्टर द्वारा रक्तदान करने की बानगी शायद नहीं देखी होगी। ऐसी ही बानगी उत्तर प्रदेश में बांदा जिले में देखने को मिली जहां के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में तैनात चिकित्साधिकारी ने खुद का खून मरीज को दान कर उसकी जान बचाई। हमीरपुर जिले का जितेंद्र सिंह (28) अपने जिले में शिक्षा विभाग में अनुदेशक के पद पर तैनात है। वह पिछले एक पखवाड़े से पीलिया जनित बीमारी से ग्रसित है। शनिवार को उसके शरीर में महज पांच यूनिट खून बचा था। जिला चिकित्सालय बांदा के डॉक्टरों ने अस्पताल में भर्ती जितेंद्र के परिजनों को तत्काल ‘ए बी निगेटिव’ ग्रुप के खून का इंतजाम करने को कहा, लेकिन न तो ब्लड बैंक में ही खून मिला और न ही उसके रिश्तेदारों का ही ग्रुप मेल खाया।

इत्तेफाक से प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कमासिन के प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ. नवीन चक का ब्लड ग्रुप वही था वे अचानक ब्लड बैंक पहुंचे और उन्होंने अपना खून देकर मरीज की जान बचा ली।

Related Post

GM Diet

Posted by - July 3, 2017 0
GM diet is a weight loss management plan which was developed by General Motor Corporation to help keep their employee…

Your reaction

NICE
SAD
FUNNY
OMG
WTF
WOW

React with gif

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *